क्या होता है हमर, भारतीय सेना को जल्दी ही मिलने वाले है LSV Hummer

LSV Hummer: कल्याणी ग्रुप डिफेंस कॉम्पैक्ट व्हीकल के लिए एक्सेल, एग्रीगेट्स और ड्राइवलाइन टेक्नोलजी बनाने वाली प्रमुख कंपनी है। अब कंपनी भारतीय सेना के लिए कई वाहन बना रही है। फिलहाल कंपनी लाइट आर्मर्ड व्हीकल (LAM), लाइट स्ट्राइक व्हीकल (Light Strike Vehicle,LSV), माइन प्रोटेक्टेड व्हीकल (MPV) और आर्मर पर्सनल कैरियर (APC) बना रही है।

इनमें से ज्यादातर वाहनों का निर्माण सीक्रेट जगहों पर किया जा रहा है। इनमें से एक व्हीकल को हाल ही में टेस्टिंग के दौरान देखा गया था। अहमदाबाद में लाइट स्ट्राइक व्हीकल की टेस्टिंग की जा रही है। यह व्हीकल AM जनरल के प्लेटफॉर्म पर बेस्ड है। इसी प्लेटफॉर्म पर अमेरिकन आर्मी की हमर बेस्ड है।

READ MORE:  राफेल से पहले कितने फाइटर प्लेन की डील हुए है, भारत सरकार और डसाल्ट एविएशन के बीच

कंपनी सेना की जरूरत के मुताबिक LSV के कई मॉडल ऑफर कर रही है। टेस्टिंग के दौरान स्पॉट किया गये व्हीकल में हार्ड रूफ नहीं दी गई है। यह 3.2 m और 3.5 m व्हीलबेस ऑप्शन में उपलब्ध है। इसकी डायमेंशन की बात की जाए तो यह 5 मीटर लंबा, 2.2 मीटर चौड़ा और 2.2 मीटर ऊंचा है। इसका ग्राउंड क्लियरेंस 300 mm का है।

indian army hummer original photo

अपने कॉम्पैक्ट साइज के चलते इस LSV Hummer को CH-45 हेलीकॉप्टर में ले जाया जा सकता है। अगर लॉकहिड मार्टिन C-130 हर्क्यूलस की बात करें तो इसमें इस LSV की दो यूनिट को ट्रांसपोर्ट किया जा सकता है। इसमें फ्रंट में दो एडजेस्टेबल और सस्पेंडेड और पीछे तीन सस्पेंडेड सीट्स दी गई हैं।

इस पर 7.6 mm और 12.7 mm की मशीनगन और 40 mm ऑटोमैटिक ग्रेनेड लॉन्चर को फिट किया जा सकता है। साथ ही इसके प्रोटेक्शन लेवल को भी मिशन के हिसाब से बदला जा सकता है। यह गोलीबारी के खिलाफ बैलेस्टिक प्रोटेक्शन के साथ आएगा। इसके साथ हैवी किट भी दी जाएगी जो इसे एंबुश अटैक से प्रोटेक्ट करेगी।

READ MORE:  A red flag on Indian army military truck means

कंपनी ने इसके इंजन के बारे में कोई ऑफिशियल जानकारी नहीं दी है, लेकिन माना जा रहा है कि इसमें लगा इंजन 140 hp की पावर जनरेट करता है। इसमें 6-स्पीड मैनुअल और ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन दिया गया है।

क्या है हमर ?
ऑटोमोबिल की दुनिया में हमर कार की एक अलग पहचान है। इस भारी भरकम एसयूवी को पहली बार 1992 में लॉन्च किया गया था। इसका डिजाइन एएम जनरल कॉरपोरेशन ने तैयार किया था जिसे साल 1998 में जनरल मोटर्स ने इस ब्रांड नेम को खरीद लिया था। आमतौर पर इस गाड़ी का इस्तेमाल यूएस आर्मी द्वारा किया जाता था।

भारत में भी इस गाड़ी को पसंद करने वालों की कमी नहीं है। भारतीय एकदवसीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के पास हमर H2 है तो वहीं, हरभजन सिंह हमर H3 के मालिक हैं। बॉलीवुड अभिनेता सुनील शेट्टी की गैराज में भी हमर H3 को देखा जा सकता है

  • 23
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *